Rahul...

07 November 2010

मेरे पास है ....

उम्मीद की हद...
दामन में कुछ ...
बिखेर गया
तेरा नाम ... तेरा चेहरा
... और टूटती साँसे ..
जिंदगी के उलझे पल
यही कुछ मेरे पास है ....
                              rahul

1 comment:

  1. सुन्दर अभिवयक्ति ........

    ReplyDelete